Holika Dahan Timing 2024 Live: आज रात इस समय जलेगी होलिका, पूजा विधि और उपाय जानते हैं तो करें दहन

Holika Dahan Timing 2024 Live:- आज होलिका दहन है और कल 25 मार्च को रंगों से होली खेली जाएगी। होलिका दहन पर अग्नि पूजा का सबसे अधिक महत्व है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार होलिका दहन हर साल फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है।

Holika Dahan Timing 2024 Live: होलिका दहन की अवधि

होलिका दहन तभी शुभ माना जाता है जब भद्रा काल न हो। आज रात 10.27 बजे भद्रा समाप्त होने के बाद होलिका दहन किया जा सकता है। होलिका दहन का शुभ मुहूर्त आज शाम 11:15 बजे से 12:23 बजे तक रहेगा।

होलिका दहन का समय आज: जानें किस समय होगा होलिका दहन

होलिका दहन का त्योहार आज रात मनाया जाएगा. इस बार होलिका दहन पर भद्रा का साया रहेगा जिसके कारण भद्रा खत्म होने के बाद ही होलिका जलेगी। पंचांग के अनुसार भद्रा आज सुबह 09.24 बजे शुरू हो गई थी, जो रात 10.27 बजे समाप्त होगी. होलिका दहन का शुभ मुहूर्त रात 11:15 बजे से 12:23 बजे तक रहेगा.

होलिका दहन के बुरी नजर एवं भय निवारण उपाय

अगर आपके घर में बहुत ज्यादा नकारात्मक ऊर्जा या बुरी शक्तियां हैं तो होली की एक छोटी सी अग्नि बनाकर उसे पूरे घर में घुमाएं और फिर उसे घर के दक्षिण-पूर्व कोने में जला दें। इसे मिट्टी से भरे बर्तन में रखें। उसी अग्नि से सरसों के तेल का दीपक जलाते रहें।
होली के दिन अगर आपको बुरे सपने आते हैं या अज्ञात भय रहता है तो एक जटा वाला नारियल, काले तिल और पीली सरसों लें और उसे अपने सिर के ऊपर से सात बार घुमाएं। इन बीजों को जलती हुई होलिका में डाल दें। आपको इस समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।

होलिका दहन के दूसरे दिन जली हुई होली की राख को घर ले आएं, उसमें सरसों और नमक मिलाकर पूरे घर में छिड़क दें। इस तरह घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है।

पैसों की समस्या के लिए होलिका की राख के उपाय

अगर कोई आर्थिक तंगी से जूझ रहा है तो होली के दिन अपने घर के प्रवेश द्वार पर गुलाल छिड़कें और उस पर चौमुखा दीपक जलाएं।
अगर आपके व्यापार या करियर में बरकत नहीं हो रही है तो सात साबुत गोमती चक्र लें, उन्हें गंगा जल से पवित्र कर लें और फिर होलिका दहन की रात शिवलिंग का अभिषेक करते समय उन्हें अर्पित कर दें।

होलिका दहन की राख से दूर होती हैं बीमारियां

एक सूखी लोई लें, उसमें अलसी का तेल, काले तिल और थोड़ा सा गुड़ डालें और जलती हुई होलिका में डाल दें। अगर आपको धन, स्वास्थ्य या बीमारी से जुड़ी कोई समस्या है तो यह आपकी मदद करेगा।
अगर आपके घर में कोई बीमार है तो होलिका दहन की राख को कपड़े या कागज में लपेटकर बीमार व्यक्ति के तकिए के नीचे रख दें। इस प्रकार धीरे-धीरे रोग दूर हो जाएगा और व्यक्ति के स्वास्थ्य में धीरे-धीरे सुधार होने लगेगा।

आज रात होलिका दहन का शुभ समय कब है?

परंपरा के अनुसार फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को होलिका दहन किया जाता है। फाल्गुन पूर्णिमा तिथि वर्तमान में 24 मार्च को सुबह 09:05 बजे शुरू हो रही है और 25 मार्च को दोपहर में समाप्त होगी। इस प्रकार पूर्णिमा तिथि दो दिन तक रहेगी। वैदिक पंचांग के अनुसार 24 मार्च को रात्रि 11:12 बजे से 12:31 बजे तक होलिका दहन किया जा सकता है।

होलिका दहन से आज बने ये योग।

सनातन धर्म का होली एक बड़ा त्योहार है। होली से एक दिन पहले होलिका दहन होता है। होलिका दहन फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा की रात को किया जाता है। आज होलिका दहन और कल रंगों वाली होली मनाई जाएगी। आज होलिका दहन पर सर्वार्थ सिद्धि और रवि योग है। आठ दिनों तक चलने वाले होलाष्टक का समापन भी होलिका दहन से होता है।

Joine TelegramClick Here
Whatsapp ChannelClick Here
Google NewsClick Here

Leave a Comment